Bhugol-Aur-Aap |

लॉजिस्टिक्स में नवाचारों से सधेगा पर्यावरण संतुलन

प्रकृति में पर्यावरण संतुलन को बनाये रखने के लिए उन सभी क्षेत्रों में नवाचारों की आवश्यकता है जो देश की अर्थव्यवस्था में प्रमुख योगदानकर्ता हैं। विगत मार्च माह के अंतिम सप्ताह में कोंकण रेलवे और कंटेनर कार्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (कानकोर) के बीच एक एमओयू के आधार पर 43 करोड़ रुपये के निवेश से निर्मित एक लॉजिस्टिक्स पार्क का उद्घाटन गोवा राज्य में मडगांव के पास बाल्ली रेलवे स्टेशन पर किया गया है। यह मल्टीमोडल लॉजिस्टिक्स पार्क 81,300 वर्ग किमी. क्षेत्र पर स्थापित किया गया है, जो शुरू में घरेलू यातायात का संचालन करेगा। इसके द्वारा माल ढुलाई में योगदान से कंटेनर की परिवहन लागत, समय और ईंधन की बचत के साथ-साथ वाहनों के धुएं से फैलने वाला प्रदूषण भी कम होगा। इससे पर्यावरण संतुलन को बनाये रखने में मदद मिलेगी। गौरतलब है कि गोवा और जेएनपीटी बंदरगाह, मुम्बई के बीच की दूरी लगभग 650 किमी है। गोवा से सड़कमार्ग द्वारा जेएनपीटी तक पहुंचने में एक कंटेनर को 30 से 40 घंटे लगते हैं। बाल्ली स्थित लॉजिस्टिक्स पार्क से कंटेनर डिपो का काम पूरा होने के बाद कंटेनर रेलमार्ग से 16 से 18 घंटे में ही यह दूरी तय कर लेगा। इस पार्क से कंटेनर परिवहन के अलावा कवर्ड और ओपन दोनों प्रकार के वैगनों से माल ढुलाई हो सकती है।

प्रतिवर्ष 10 प्रतिशत की दर से बढ़ रहे भारतीय लॉजिस्टिक्स उद्योग के वर्ष 2019-20 में 215 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंच जाने का अनुमान भारत सरकार के वाणिज्य, उद्योग व नागर विमानन मंत्री द्वारा गत् 5-6 अप्रैल को नई दिल्ली में आयोजित ‘ग्लोबल लॉजिस्टिक्स शिखर सम्मेलन’ में व्यक्त किया गया है। विश्व बैंक द्वारा घोषित लॉजिस्टिक्स परफार्मेन्स इन्डेक्स’ में भारत की रैंकिग 2016 में 35 हो गई जो 2014 में 54 थी।

Post a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*