भूगोल और आप | भूगोल और आप फ्री आर्टिकल |

सात नये ग्रह दिखे , तीन पर जीवन की संभावना !

नासा (अमेरिकी स्पेस एजेंसी ) ने दावा किया है कि उसके वैज्ञानिकों ने पृथ्वी से 40 प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित सात नये ग्रह खोजे हैं। इनमें से तीन ग्रहों पर जीवन की संभावना है ।

नासा के अनुसार , उसके वैज्ञानिकों का मानना है कि ये सात नये ग्रह आकार में पृथ्वी के बराबर हैं औऱ एक तारे के इर्द-गिर्द परिक्रमा करते हैं । वैज्ञानिकों ने इस तारे का नाम “ट्रेपिस्ट-1” बताया है । यह तारा “बृहस्पति ग्रह” से आकार में बड़ा है । इस तारे से निकटता के कारण ये संभावना जताई जा रही है कि सात नये ग्रह में से तीन पर पानी हो सकता है । एक ग्रह की भौगोलिक स्थिति पूरी तरह पृथ्वी से समानता दर्शाती है । ग्रहों पर पानी होने का अर्थ ये है कि यहां पर जीवन की संभावना है ।

नासा के अनुसार , हमारे सौर मंडल से बाहर , एक अलग आवासीय क्षेत्र में स्थित सौरमंडल में मौजूद सात नये ग्रह जिस तारे ट्रेपिस्ट-1 का चक्कर काटते हैं , वह आकार में हमारे सूरज से दस गुना छोटा है तथा तापमान में ढ़ाई गुना शीतल है । अर्थात , सूरज के मुकाबले बहुत कम गर्म है । इसका प्रकाश भी सूरज की तुलना में दो हजार गुना कम है ।

नासा के वैज्ञानिकों ने स्पिट्जर स्पेस टेलीस्कोप से इस तारे को देखा है । वैज्ञानिकों के अनुसार इस तरह के परिणाम पहले कभी नहीं प्राप्त हुए हैं , नतीजे चौंकाने वाले हैं । शोध के अगले चरण में ऑक्सीजन और मिथेन आदि गैसों की खोज की जा रही है । इससे इन सात नये ग्रहों की सतह पर होने वाले परिवर्तनों के बारे में सुबूत मिल सकते हैं ।

Post a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.