भारत में कृषि भूमि के उपयोग मे बदलाव

भारत के कृषि भूमि के उपयोग में परिवर्तन

25.00

Description

यह तथ्य चौंकाने वाला है कि वर्ष 2011-12 के अनुसार देश के कुल ज्ञात क्षेत्र का 9 प्रतिशत  से भी कम क्षेत्र गैर कृषि उपयोग के अंतर्गत आता है। जबकि देश के सकल घरेलू उत्पाद में 80 प्रतिशत से भी ज्यादा द्वितीय व तृतीय क्षेत्र का अंशदान है। आज भी कृषि एक भूमि गहन क्रियाकलाप है जबकि गैर प्राथमिक क्रियाकलाप में या तो भूमि की आवश्यकता ही नहीं पड़ती और यदि पड़ती है तो बहुत कम (ई.कामर्स इसके अंतर्गत एक मामला है जो कि मुख्यतः एक आभासी क्षेत्र होता है) । दूसरे, जो भूमि  ‘कृषि’ के अंतर्गत दिखाई देती है, असल में वह भूमि कई बार गैर-कृषि क्रियाकलापों को बढ़ावा देती है। जैसे फसल कटाई के बाद के कार्य (व्यापार भी) और कृषीय वस्तुओं संबंधी कई प्रथम चरणीय क्रियाएं।

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.