GNY MAGAZINEIn stock

Antriksh Prodyogiki (digital Copy)

ISSN NO:

Vol NO: मार्च-अप्रैल 2018

भूगोल और आप का मार्च-अप्रैल अंक इसरो का इम्पैक्ट फीचर विशेषांक है जो इसरो की उन प्रौद्योगिकियों को समर्पित है जो समाज के लाभ के लिए हैं। यह अंक भूगोल और आप पत्रिका ने इसरो के सहयोग से प्रकाशित किया है। इसमें प्रकाशित आलेख इसरो के विभिन्न संगठनों की प्रस्तुति है। ज्ञातव्य है कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो ने कई अभिनव प्रौद्योगिकियों के माध्यम से भारत के सामाजिक-आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। 




  • ₹ 50.00

    भूगोल और आप का मार्च-अप्रैल अंक इसरो का इम्पैक्ट फीचर विशेषांक है जो इसरो की उन प्रौद्योगिकियों को समर्पित है जो समाज के लाभ के लिए हैं। यह अंक भूगोल और आप पत्रिका ने इसरो के सहयोग से प्रकाशित किया है। इसमें प्रकाशित आलेख इसरो के विभिन्न संगठनों की प्रस्तुति है। ज्ञातव्य है कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो ने कई अभिनव प्रौद्योगिकियों के माध्यम से भारत के सामाजिक-आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इसरो की प्रौद्योगिकियों के कई अनुप्रयोग हैं। जियोमनरेगा व नरेगासॉफ्ट के माध्यम से मनरेगा के तहत सृजित आस्तियों की निगरानी की जा रही है। इसमें भुवन का भी कम योगदान नहीं है। ‘फसल’कार्यक्रम के द्वारा फसल रकबा पूर्वानुमान किया जा रहा है। इसरो की अन्य प्रौद्योगिकियां एवं उनके अनुप्रयोग हैं; समन्वित बागवानी विकास के लिए ‘चमन’ परियोजना, सिंचाई निगरानी हेतु भुवन-एआईबीपी ऑनलाइन तंत्र, तेलंगाना जल संसाधन सूचना प्रणाली-टीडब्ल्यूआरआईएस, संभावित मत्स्यन जोन की पहचान में सुदूर संवेदी तकनीक, वनाग्नि प्रत्युतर व आकलन हेतु इन्फ्रास तकनीक, उष्णकटिबंधीय चक्रवातों के पूर्वानुमान हेतु मेघा ट्रॉपिक्स, स्कैटसैट-1, बाढ़ पूर्वानुमान में एफएलईडब्ल्यूएस, आपदा प्रबंधन में यूएवी, जैव विविधता चरित्राकंन हेतु जैव विविधता सूचना प्रणाली इत्यादि। इन सभी इम्पैक्ट फीचर को भूगोल और आप के इस विशेषांक में विभिन्न ग्राफ एवं आकृतियों के माध्यम से प्रस्तुत किया गया है।

    your saved products (0)